Sunday, 5 January 2014

खेल-कूद



खेल से शरीर मस्तिष्क का होता है विकास
 
फीता काटकर प्रतियोगिता का उद्घटन करते मुख्य अतिथि।

चन्दौली (उ0प्र0)।  खेल में जीत और हार से ज्यादा महत्व भाग लेने का है। हार से निराश नहीं होना चाहिए बल्कि उससे सबक लेकर अपनी कमियों को सुधारना चाहिए। खेल से शरीर मस्तिष्क का विकास होता है जबकि खेल भावना से समाज में समरस्ता पैदा होती है। ग्रामीण समाज में खेलकूद प्रतियोगिता के आयोजन से ग्रामीण परिवेश में छिपी प्रतिभाओं को उभरने का औसर मिलता है।

उक्त बातें वरिष्ठ समाजसेवी नियामुल खां ने रविवार को धानापुर कस्बा स्थित परती मैदान पर अदनान वेलफेयर सोसाइटी द्वारा आयोजित 16 वर्षीय अदनान मेमोरियल कैनवस क्रिकेट प्रतियोगिता के उद्घाटन समारोह में व्यक्त किया। उन्होने कहा कि खेल जीवन का महत्वपूर्ण अंग है। इस तरह के प्रतियोगिताओं का आयोजन जरूरी है क्योंकि इससे ग्रामीण युवाओं को अपने हुनर को प्रदर्शित करने का मौका मिलता है। बस जरूरत है ऐसी प्रतिभाओं को प्रोत्साहन, संरक्षण संसाधन मुहैया कराने का ताकि ये प्रदेश देश स्तर पर क्षेत्र का नाम रोशन करें। उद्घाटन मैच में रायपुर ने धानापुर को 10 रन से पराजीत किया।

इस दौरान इरफान खां, सद्दाम, हामिद अबरार, तबरेज खां, आमिर खां, शहंशाह, रेहान, अयाज, सैफ, रागिब, सिबलू, रकीम खां, सहबाज, अरबाज, राजन, वैस खां, इमरान सहित कई लोग मौजूद रहें। अध्यक्षता शमीम खां संचालन एम. अफसर खां सागर ने किया।

No comments:

Post a Comment