Sunday, 30 December 2012

श्रद्धांजलि




 शान्ति मार्च व कैंडिल जलाकर दामिनी को श्रद्धांजली

 
बेरहम थी खौफ के आलम की तारीकीयां

एक कुर्बानी मगर सबको शर्मिंदा कर गई,

बन के लाश जीये थे इस वतन के लोग
एक वो है मर के जो मुर्दों को जिन्दा कर गई।
 

धानापुर में शांति पदयात्रा निकाल कर दामिनी को श्रद्धांलजी देते हुए।

 दिल्ली में गैंग रेप पीडित छात्रा की मौत से स्तब्ध अदनान वेलफेयर सोसाइटी एवं इण्डिया अगेंस्ट करप्शन के कार्यकर्ताओं ने रविवार शाम को चन्दौली जनपद के धानापुर बस स्टैण्ड से शहीद पार्क तक शान्ति मार्च निकाला व शहीद पार्क में कैंडिल जलाकर व दो मिनट मौन रखकर श्रद्धांजलि अर्पित की। इस दौरान सभा को सम्बोधित करते हुए स्वतंत्रता संग्राम सेनानी डा0 हवलदार सिंह ने कहा कि दामिनी के साथ हुई घटना सभ्य समाज के माथे पर कलंक है। दामिनी ने पूरे समाज को उद्वेलित कर दिया है। दामिनी की मौत जरूर हो गई है लेकिन आत्मा हमेशा हमारे दिलों में रहेगी। इस घटना से पूरा देश शर्मशार है, आरोपियों को कडी सजा ही छात्रा को सच्ची  श्रद्धांजलि होगी। इस तरह के घटना की पुनरावृत्ति ना हो इसके सरकारों को कडा कानून बनाने की जरूरत है। सख्त कानून के साथ समाज को भी महिलाओं के प्रति अपने सोच में बदलाव करना होगा।

धानापुर शहीद पार्क में कैंडल जलाकर दामिनी को श्रद्धांलजी देते हुए।
धानापुर शहीद पार्क में कैंडल जलाकर दामिनी को श्रद्धांलजी देते हुए।

इस दौरान बेचन सिंह, तबरेज खां, बृजेन्द्र मिश्र, अभय विष्वकर्मा, अलीम अंसारी, अनिल, इरफान खां, पंकज रस्तोगी, कलाम खां, मकसूद खां, नीरज शर्मा, शादाब खां, साहब, सहित अनेकों गणमान्य लोग मौजूद रहें। अध्यक्षता इम्तियाज अंसारी व संचालन एम. अफसर खां सागर ने किया।

No comments:

Post a Comment